Eid Special: परफ्यूम से क्यों बेहतर है इत्र!

चारों ओर ईद का बाज़ार लग गया है। रमज़ान के पवित्र महीने के बाद लोग धूम-धाम से ईद का त्योहार मनाते हैं। इस खास दिन सभी लोग सज-धजकर एक दूसरे के घर जाते हैं और गले मिलते हैं।

ईद के दिन ज्यादातर लोग सफेद कुर्ता-पयजामा, सिर पर टोपी और इत्र या फिर परफ्यूम लगाते हैं। यही वजह है कि लोग अपने ईद की शॉपिंग में इत्र या फिर कोई परफ्यूम खरीदना कभी नहीं भूलते हैं। इत्र के कारण शरीर से महकी खुशबू के असर से गली और बाजार भी सुगंधित हो उठते हैं। वहीं, कई लोग बड़ी कन्फ्यूजन में रहते हैं कि आखिर उनकी स्किन के लिए क्या बेहतर है – इत्र या फिर परफ्यूम?

इत्र क्या है?

इत्र पारपंरिक तरीके और प्राकृतिक पदार्थों से बनाया गया एक खुशबूदार तेल होता है, जिसे बनाने में किसी तरह के कैमिकल का इस्तेमाल नहीं किया जाता है। वहीं, परफ्यूम में खुशबूदार तेलों के अलावा कई तरह के कैमिकलों का मिश्रण भी होता है।

इत्र की सबसे खास बात यह है कि इससे ना तो आपके स्किन को किसी तरह का खतरा होता है और साथ ही इसकी खुशबू का असर काफी देर तक बना रहता है। क्या आप जानते हैं कि इत्र की ज़रा सी बूंद आपके शरीर को काफी देर तक महकाए रखता है जबकि परफ्यूम का प्रभाव कुछ घंटे में ही खत्म हो जाता है।

इत्र के कई प्रकार – मौसम के अनुसार करें इस्तेमाल

क्या आप जानते हैं कि इत्र का इस्तेमाल मौसम को ध्यान में रखकर ही करना चाहिए। जैसे कि गर्मियों के मौसम में आप – गुलाब, जास्मीन, खस, केवड़ा, मोगरा का इत्र लगा सकते हैं क्योंकि यह गर्मियों के मौसम में आपके शरीर को ठंडा रखती हैं।

वहीं, सर्दियों के इत्र में मस्क, अंबर, केसर, ऊद का इत्र लगाने की सलाह दी जाती है, क्योंकि यह शरीर के तापमान को बढ़ाने की क्षमता रखता हैं। आपको बता दें कि इत्र बनाने के लिए फूल, हर्बल और मसालों का इस्तेमाल किया जाता है. कई इत्र तो ऐसे भी होते हैं जिन्हें बनाने के लिए खास मिट्टी के बर्तन का इस्तेमाल भी किया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook8k
Instagram7k