ब्रेस्ट कैंसर के सेल्स का पता लगाने में मदद करेगी यह एक चीज़

इन दिनों महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर सबसे बड़ा खतरा बनकर उभर रहा है। वहीं, पहले की तुलना में भारत में 25 साल से लेकर 50 साल तक की महिलाओं में कैंसर के अधिक मामले सामने नज़र आ रहे हैं जो कि काफी गंभीर विषय हो गई है।

देखा जाए तो हमारे भारत में भी कैंसर का बेहतरीन इलाज और देखभाल उपलब्ध है लेकिन अभी भी अच्छे और सही परिणाम के लिए ज़रूरी यह है कि बीमारी की पहचान शुरुआत में ही हो जाए। अफसोस तो इस बात का है कि इस बीमारी के बारे में लोगों में जागरूकता काफी कम है क्योंकि ब्रेस्ट आज भी एक ऐसा विषय बना हुआ है जिस पर चर्चा करने से महिलाएं शर्माती हैं और अच्छा नहीं मानती हैं। इन्ही कारणों की वजह से इस खतरनाक बीमारी का पता अक्सर उस समय लगता है, जब इलाज के विकल्प अधिक सीमित होते हैं।

C-MET की पहल… वियरेबल डिवाइस का किया आविष्कार

केरल के साइंटिस्टों के एक ग्रुप ने एक ऐसी ब्रा का आविष्कार किया जो ब्रेस्ट में कैंसर की कोशिकाओं का पता लगाने में मदद कर सकता है। सेंटर फॉर मैटेरियल्स फॉर इलेक्ट्रॉनिक्स टेक्नोलॉजी (C-MET) की त्रिशूर शाखा की एक टीम ने अपने मुख्य जांच अधिकारी के रूप में डॉ. ए सीमा के नेतृत्व में उन्होंने वियरेबल डिवाइस का आविष्कार किया जो कि सेंसर से लैस है। आपको बता दें कि यह कैंसर कोशिकाओं का पता लगाने के लिए थर्मल इमेजिंग का उपयोग करता है।

नारी शक्ति पुरस्कार से नवाजी जा चुकी हैं डॉ. ए सीमा

हाल ही में डॉ. ए सीमा को भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इस नए और इनोविटव डिवाइस के लिए प्रतिष्ठित नारी शक्ति पुरस्कार से सम्मानित किया है। डॉ. सीमा के मुताबिक रेगुलर मैमोग्राम से बहुत अलग यह डिवाइस सुरक्षित था और साथ ही रेडिएशन का उत्सर्जन नहीं करता था और तो और इस डिवाइस को पहनने वाले को कोई दर्द भी महसूस नहीं होगा। डिवाइस पोर्टेबल है इसलिए भी इसे फील्ड विजिट के दौरान आसानी से अपने साथ ले जाया जा सकता है और इसके साथ उम्र का भी कोई बंधन भी नहीं हैं।

डिवाइस की लागत होगी 400-500 रुपये

आपको जानकर हैरानी होगी कि इस डिवाइस की लागत मात्र 400-500 रुपये ही रहेगी। उम्मीद की जा रही है कि प्रोडक्शन बढ़ने के बाद लागत में और कमी भी आ सकती है। ध्यान रहें कि स्तन कैंसर का जल्द पता नहीं लगने से और इलाज नहीं होने पर यह गंभीर और जानलेवा साबित हो सकती है औऱ ऐसे डिवाइस इस घातक बीमारी से लड़ने की दिशा में एक बेहतरीन कदम हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook8k
Instagram7k