माननीय मुख्यमंत्री के कर कमलो द्वारा प्रोमिस हेल्थकेयर का भव्य उद्घाटन

मंगलवार, दिनांक 7 जुलाई 2020 को प्रोमिस हेल्थकेयर का भव्य शुभारम्भ श्री हेमंत सोरेन, माननीय मुख्यमंत्री, झारखण्ड सरकार के कर कमलो द्वारा संपन्न हुआ। डॉ दीपक वर्मा, डॉ संगीता अग्रवाल, श्री एके झा एवं श्री अमित एकलव्य के दिनरात की कड़ी मेहनत से बनी यह संस्था आनेवाले दिनों में आधुनिक चिकित्सा के छेत्र में झारखण्ड और पड़ोसी राज्य के लिए एक वरदान साबित होगी।

प्रोमिस हेल्थकेयर पहली बार रांची में आर्थोपेडिक्स, सामान्य (जनरल सर्जरी), लेप्रोस्कोपिक सर्जरी, बांझपन, स्टेम सेल प्रत्यारोपण और अन्य चिकित्सा एवं दंत चिकित्सा विशिष्टताओं के क्षेत्र में अत्याधुनिक स्वास्थ्य सेवा लाने के अपने वादे को पूरा किया। यहाँ दशकों के मूल्यवान अनुभव के साथ योग्य सर्जनों की टीम उचित निदान और उपचार प्रक्रियाओं को सुनिश्चित करती है। ओटी (OT) इंफ्रास्ट्रक्चर में नवीनतम तकनीक से लैस, यह व्यक्तिगत देखभाल को सभी के लिए सुलभ बनाया है।

यहाँ निम्नलिखित सेवाएं प्रदान होंगी:

  • आर्थोपेडिक सर्जरी
  • आघात और दुर्घटनाएँ
  • घुटना प्रत्यारोपण ध् रिप्लेसमेंट
  • हिप रिप्लेसमेंट
  • लेप्रोस्कोपिक सर्जरी
  • जनरल सर्जरी
  • एडवांस डेंटल एंड कॉस्मेटिक सर्जरी
  • इनविट्रो फर्टिलाइजेशन (आईवीएफ)
  • बांझपन या इनफर्टिलिटी
  • इम्यूनोथेरेपी
  • स्टेम सेल प्रत्यारोपण
  • खेल और रिहैबिलिटेशन मेडिसिन ध् फिजियोथेरेपी
  • प्रिवेंटिव हेल्थ चेकअप

इस IVF (आईवीएफ ) सेंटर की डायरेक्टर डॉ संगीता सिन्हा है जो की वरिष्ठ IVF स्पेस्लिस्ट है। जिन्हे आईवीएफ तकनीक में 12 वर्षो का गहन अनुभव है। उन्होंने अपनी IVF की ट्रेनिंग वारविक यूनिवर्सिटी, लन्दन से प्राप्त की है। और उनकी नेतृत्व में हाईली क्वालिफाइड टीम 24 घंटे सेवाएं देने के लिए तत्पर रहेगें।

द सृजन प्रॉमिस IVF सेंटर सारे आधुनिक उपकरणों से सुसज्जित है और यहां पर IVF, ICSI, TESA, ICSI, IMSI, ब्लास्टोसिस्ट कल्चर, स्पर्म फ्रीजिंग, एम्ब्रियो फ्रीजिंग की सारी सुविधाएं उपलब्ध है। यहाँ कोरोना वैश्विक महामारी के चलते निःसंतान दम्पति ऑनलाइन परामर्श भी ले सकते है।

द सृजन प्रॉमिस IVF सेंटर निःसन्तान दंपतियों को नैतिक पारदर्षी और क्लिनिकल प्रोटोकाॅल आधारित उपचार प्रदान करेगा। यह संस्था, फर्टिलिटी उपचार में राष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त सर्वोत्तम तकनीक के साथ फर्टिलिटी उपचार में नया आयाम लाने के लिए बचनबद्ध है। यह संस्था रोगों के अनुकूल-वन-स्टॉप डे-केयर क्लीनिक प्रदान करता है, जहा ंपरामर्ष, जांच और उपचार सभी का एक ही छत के नीचे किये जाते हैं।

स्टेम सेल प्रत्यारोपण
रीलैब के साथ, प्रॉमिस हेल्थ केयर स्टेम सेल प्रत्यारोपण प्रदान करता है। स्टेम सेल ट्रांसप्लांटेशन कॉर्ड ब्लड को क्रायोप्रीजर्व करने की एक नई अवधारणा है। रिजेनेरटिव मेडिसिन का उपयोग कई डिजेनेरेटिव विकारों के लिए किया जाता है जैसे Autologous Bone Marrow derived Mesenchymal स्टेम सेल प्रत्यारोपण, एल्कोहलिक लीवर सिरोसिस, घुटनो का ओस्टियो आर्थराइटिस आदि।

भारतीय स्टेम सेल बाजार केवल कॉर्ड ब्लड स्टेम सेल बैंकिंग तक सीमित है। लेकिन रिलेब्स अन्य स्रोतों से भी स्टेम सेल बैंकिंग एवं अनुसन्धान कर रही है और इन स्टेम सेल का उपयोग कर लोगों का इलाज कर रही है, ये स्रोत डेंटल पल्प, ऐम्निओटिक सैकए फ्लूइड, मेंस्ट्रुअल ब्लड एडिपोज टिश्यू अथवा अस्थि मज्जा है। जिनमे विशेष गुणधर्म पाए जाते हैं।

क्या है स्टेम सेल
हमारा शरीर अनगिनत कोशिकाओं से बना हुआ है और हर कोशिका का अपना काम होता हैं। स्टेम सेल शरीर की दूसरी कोशिकाओं का भी काम कर लेती है। यही कारण है कि इन्हे शरीर की मास्टर कोशिकाएं कहते हैं। स्टेम कोशिका विभाजित होने के बाद भी अपना पूर्ण रूप धारण कर लेती है। ये कोशिकाएं 200 से अधिक प्रकार की कोशिकाओं में विकसित होने की क्षमता रखती है। स्टेम कोशिकाओं से रक्त, ह्रदय, हड्डियों, त्वचा, मस्तिक, स्पाइनल कॉर्ड, किडनी, लिवर एवं मांसपेशियों की कोशिका बनाई जा सकती है।

इन रोगों में है कारगर
कई असाध्य रोगों के इलाज में स्टेम सेल ट्रांसप्लांटेशन कारगर है। स्पाइनल कॉर्ड सम्बन्धी बीमारी, लकवा , स्ट्रोक, ऑस्टिओ, आर्थराइटिस, आटिज्म, अलकोहलिक लिवर सिरोसिस, मधुमेह, पार्किसंस, गंजापन, अल्जाइमर्स, क्रोनिक किडनी डिजीज, रियूमेटॉइड आर्थराइटिस, सेरेब्रल पॉल्सी सहित अन्य बिमारियों के इलाज सम्भव है।

अपोलो सूचना केंद्र: अपोलो हॉस्पिटल का सूचना केंद्र प्रॉमिस हेल्थ्केयर सेंटर में उपलब्ध है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook8k
Instagram7k