गहरी सांस का क्या है महत्व, जानें इसे लेने के 5 खास टिप्स

जब तक हैं सांस… तब तक ज़िंदा है इंसान। क्यों चौंक गए ना… दरअसल, सांस हमारी गाड़ी की इंधन की तरह काम करता है… जिस प्रकार बिना इंधन के गाड़ी एक कदम भी आगे नहीं बढ़ सकती ठीक उसी तरह हमारा शरीर बिना सांस के आगे नहीं बढ़ सकता है और बेजान कहलाता है।

क्या आप जानते हैं कि एक आम इंसान एक दिन में करीब 17280-23040 बार सांसें लेता और फिर छोड़ता हैI जब हम सांस अंदर लेते है तो ऑक्सीजन के माध्यम से हमारी शरीर की कोशिकाओं का पोषण होता है। वहीं, शास्त्रों में इसे “विष्णुपदामृत” के नाम से भी जाना जाता है। कई हजार साल पहले से ही हमारे सांसों को लेने और छोड़ने का महत्व रहा है, जिसे आचार्यों ने प्राणयाम के रूप में भी इसे सबके सामने पेश किया हैI ध्यान रहें कि सिर्फ गहरी सांसों को लेने और उन्हें छोडने भर से ही हमारे शरीर को काफी फायदा पहुंचता है।

गहरी सांस लेने के 5 लाभ –

  • इस भागती ज़िंदगी में हम और आप सभी लोग तनाव से जुझ रहे होते हें और योग एवं ध्यान के कई फायदे को जानने के बावजूद बहुत से लोग एंटी-डीप्रेसेंट दवाओं का सहारा भी लिया करते हैं… लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस गंभीर समस्या से छुटकारा आप केवल गहरी सांस लेकर ही पा सकते हैं।
  • वहीं, गहरी सांस लेने और छोड़ने से आपके शरीर के अंगों पर एक सकारात्मक प्रभाव सा पड़ता है, जैसे कि फेफड़ों की मांसपेशीयां मजबूत हो जाती हैI
  • सच बताए तो हमारे गलत खान-पान से भी शरीर में कई तरह के टाक्सिंस जो जानलेवा जहर से कम नहीं होते वह जमा होते चले जाते हैं। याद रखें कि आप केवल गहरी सांस लेकर शुद्ध ऑक्सीजन अपने शरीर में भरकर जमा हुई टाक्सिंस को डी-टॉक्सिफाई कर सकते हैं।
  • यही नहीं, गहरी सांसे लेने और छोड़ने से आप हायपरटेंशन, थकान, सिरदर्द, घबराहट, और नींद ना आने जैसी कई समस्याओं से भी आसानी से छुटकारा पा सकते हैं।

गहरी सांस लेने के खास 5 टिप्स –

  • रोजाना सोने से पहले तीन सेकेण्ड के लिए सांस अंदर लें और फिर तीन सेकेंड्स तक इसे अंदर ही रोकें रहे… फिर तीन सेकेंड्स में बाहर छोड़ दें। ध्यान रखें कि इस प्रक्रिया को आप 10-15 बार ज़रूर से करें और फिर आप खुद के अंदर आए परिवर्तन को महसूस कर सकेंगे।
  • वहीं, तनाव एवं अवसाद को कम करने का सबसे अच्छा उपाय डायफ्राम (पसलियों) द्वारा सांस लेना और छोड़ना माना जाता हैI हालांकि इसे किसी प्रशिक्षक के निर्देशन में ही लेना बहुत लाभदायक होता है।
  • अगर आप फेफड़ों से संबंधित किसी भी समस्या से जुझ रहे हैं और अपनी इस समस्या को ठीक करना चाहते हैं, तो बस एक लंबी और गहरी सांस लें और इसे उसी गहराई से बाहर भी छोड़ दें। याद रखें कि इस खास प्रक्रिया को करीब तीन से चार बार ज़रूर से करें, आपको लाभ अवश्य मिलेगा।

दोस्तों, सांस हम सभी लेते हैं लेकिन सांस लेने का सही तरीका जानना हमारे लिए बहुत ज़रूरी है ताकि हम सभी एक स्वस्थ ज़िंदगी जी सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook8k
Instagram7k