कम उम्र में ही क्यों सफेद हो जाते हैं बाल, जानें यह 5 कारण

अगर आप यह सोचते हैं कि सिर्फ उम्र में बड़े या फिर बुजुर्ग लोगों को ही सफेद बाल की समस्या से जूझना पड़ता है तो आप गलत सोचते हैं क्योंकि इन दिनों छोटे-छोटे बच्चे भी  सफेद बालों की समस्या से जूझ रहे हैं।

पहले की बात और थी जब एक तय उम्र के बाद ही लोगों के बाल सफेद होने लगते थे, वहीं अब छोटे-छोटे बच्चों के बाल भी सफेद होने लगे हैं। कम उम्र में बालों के सफेद होने का कारण अक्सर जेनेटिक्स को ही समझा जाता है, लेकिन बालों के सफेद होने के पीछे कई दूसरे कारण भी हो सकते हैं।

आइए बताते हैं वह 5 कारण जिनकी वजह से कम उम्र में ही लोगों के बाल सफेद हो जाते हैं –

  • प्रदूषण (Pollution) –

आप सोचते होंगे कि वायु प्रदूषण से बस आफको सांस की ही समस्या हो सकती है, लेकिन यह गलत है क्योंकि वायु प्रदूषण के कारण आपके बालों को काफी नुकसान पहुंच सकता है। वहीं, हवा में मौजूद प्रदूषित तत्व भी आपके बालों को डैमेज कर देते है जिससे आफके बाल तेजी से सफेद होने लगते हैं। एक्सपर्ट के अनुसार, प्रदूषित हवा में मौजूद फ्री रेडिकल्स मेलानिन को डैमेज कर के बालों को सफेद करने का काम करता हैं।

  • तनाव (Depression) –

यह सत्य है कि उम्र से पहले बालों के सफेद होने का एक प्रमुख कारण तनाव यानी कि “डिप्रेशन” भी है। तनाव लेने से बाल जल्दी ही अपना नेचुरल रंग खोने लग जाते हैं। आप अगर आपने बालों को सफेद होने से रोकना चाहते हैं, तो तनाव से दूर ही रहें।

  • धूम्रपान (Smoking) –

वहीं, जो लोग धूम्रपान करते हैं उसकी वजह से भी बाल काफी कम उम्र में ही सफेद हो जाते हैं। एक रिसर्च में भी यह बात सामने आई है कि जो लोग धूम्रपान करते हैं, उनके बाल जल्दी सफेद होने की संभावना दूसरे लोगों के मुकाबले 25 फीसदी ज्यादा होती है।

  • हार्मोन (Hormones) –

हमारे शरीर में हार्मोन का स्तर बिगड़ने से भी बाल जल्दी सफेद हो जाते हैं। हार्मोंस के असंतुलित होने से बाल रूखे-सूखे तो हो ही जाते हैं व साथ ही बालों की चमक भी खत्म हो जाती है।

  • अनहेल्दी डाइट (Unhealthy Diet) –

यह तो हम सभी जानते हैं कि हमारे खान-पान का सीधा असर सेहत पर पड़ता है, इसलिए डाइट का खास ख्याल रखना बहुत ही जरूरी होता है। दरअसल, डाइट में न्यूट्रिएंट्स की कमी होने से कम उम्र में ही बाल सफेद होने लग जाते हैं। वहीं, शरीर में विटामिन बी-12 की कमी से बाल रूखे-सूखे और बेजान होने लगते हैं और अपना नेचुरल रंग भी खो देते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook8k
Instagram7k