Summer Special: गर्मी के मौसम के क्या हैं 5 खतरनाक बीमारियां, जानें कैसे बचें!

गर्मी का मौसम सबको हिलाकर रख देता है। तेज़ धूप, लहर और उमस लोगों का जीना बेहाल कर देते हैं। वहीं, गर्मियों में होने वाली कुछ बीमारियां ऐसी भी हैं जो सामान्य तो होती हैं, लेकिन कुछ बेहद गंभीर भी होती है और इनमें जरा सी लापरवाही करने पर यह जानलेवा भी साबित हो सकती है।

आइए जानते हैं कुछ ऐसी बीमारियों के बारे में जिनसे आपको गर्मी में सतर्क रहने की जरूरत है –

  • टायफॉइड (Typhoid) –

गर्मी के मौसम में सबसे ज्यादा अगर किसी बीमारी के बारे में लोगों के मुंह से आपने सुना होगा तो वह है टायफॉइड। कई बार तो लोग इसे सिर्फ बुखार समझकर ही नजरअंदाज कर देते हैं, जिस वजह से यह समस्या कई बार जानलेवा भी साबित हो सकती है। टायफॉइड के लक्ष्ण है – तेज बुखार, भूख नहीं लगना, हर समय उल्टी महसूस होना और खांसी जुकाम का होना। अगर आप इस बीमारी से बचना चाहते हैं तो अपने खाने-पीने की चीजों में स्वच्छता का खास ख्याल रखा करें और बाहर का ऑयली फुड न खाएं। आप चाहें तो इससे बचने के लिए टीकाकरण भी करा सकते हैं।

  • घेंघा

वहीं, गर्मी के मौसम में लोगों में घेंघा की भी शिकायत बहुत देखने को मिलती है। बता दें कि घेंघा जो है वह थॉयराइड ग्लैंड के बढ़ जाने से ही होता है। इस रोग में गर्दन में सूजन आ जाती है। घेंघा से पीड़ित शख्स को सांस लेने में भी काफी कठिनाई होती है और और खांसी की परेशानी भी रहती है। ध्यान रहें कि अगर आपको इनमें से कोई भी लक्षण नज़र आए तो वक्त रहते ही अपना इलाज कराएं।

  • खसरा

बात अगर खसरा की करें तो यह एक वायरल बीमारी होती है, जो सांस के जरिए ही फैलती है। हालांकि इसका संक्रमण ज्यादातर छोटे बच्चों में ही फैलता है। इस बात का खास ध्यान रखें कि घर में जिस किसी को खसरा हो तो उससे दूसरे लोगों को एतिहात बरतने की जरूरत होती है। खसरा के लक्ष्ण हैं – इस बीमारी में शरीर पर लाल रंग छोटे-छोटे दाने हो जाते हैं और इससे बचने के लिए आप टीकाकरण पहले से करा सकते हैं।

  • पीलिया

गर्मी के दिनों में होने वाले रोगों में पीलिया भी प्रमुख है, जिसे हेपेटाइटिस “ए” भी कहा जाता है। बता दें कि इस बीमारी में शरीर में खून की कमी हो जाती है, जिससे आपका शरीर पीला पड़ने लग जाता है। वहीं, इसके अलावा आपका पाचन तंत्र भी कमजोर हो जाता है। गर्मी में खासकर के दूषित खाने से दूरी बनाए रखें। पीलिया होने पर खासकर के स्वच्छता का बहुत ज्यादा ध्यान रखना चाहिए। कोशिश करें कि सिर्फ उबला हुआ खाना खाएं और पानी ही पीएं।

  • चेचक

गर्मी का मौसम दस्तक देते नहीं है कि चेचक का संक्रमण फैल जाता है। इस बीमारी से रोगी के शरीर में लाल दाग हो जाते हैं, सिरदर्द और बुखार की भी शिकायत रहा करती है। बता दें कि इसका शुरुआती लक्षण गले में खराश होना होता है। चेचक के रोगी को खांसी और छींके बहुत आती है, जिससे यह रोग दूसरों में भी जल्दी-जल्दी फैल जाता है। आप चाहे तो इससे बचने के लिए टीके लगा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook8k
Instagram7k